Dhara 144 Kya Hai? Aur Kab Lagu Kiya Jata Hai? धारा 144 का मतलब हिंदी में

धारा 144 क्या है और क्यू और कब लागू की जाती है ? Dhara 144 kya hoti hai ?  धारा 144 के बारे में पूरी जानकारी आज हम आपके साथ में साझा करने जा रहे है और आपको बताएँगे के ये कब और क्यू लगायी जाती है | यह सवाल आपके दिमाग में की बार आता ही होगा या जब भी आप टीवी या समाचार पत्र कुछ खबरे पड़ते या देखते होंगे के सरकार ने धारा 144 लागू कर दी है | तो यदि आप इसके बारे में नही जानते तो आपके मन में ये क्या होती है इस प्रकार के प्रश्न जरुर ही आते होंगे और आपके मन में इसको जान्ने की इच्छा जगती है |

धारा 144 के बारे में हर भारतीय नागरिक को जानकारी होनी चाहिए यदि आप एक स्टूडेंट है , या किसी  competitive एग्जाम की तयारी कर रहे हो या आप नौकरी या बिज़नस भी करते है एक भारतीय नागरिक होने के नाते आपको इसकी जानकारी होना हम जरुरी समझते है | इससे जुड़े जितने भी सवाल आपके दिल और दिमाग में है तो आपको इस पोस्ट को पढने के बाद आपके सवालो का जवाब जरुर  मिल जायगा |

धारा 144 क्या है और कब लगाईं जाती है? | Section 144 in हिंदी

CRPC (Code of Criminal Procedure) की धारा 144 इसका मकसद, कई लोगो को एक साथ इकट्ठा होने से रोकना है | यह धारा सरकार द्वारा उस परिस्तिथि में लागु की जाती है जब लोगो के एक साथ इकट्ठे होने से कोई जनहित में खतरा होता है | देश और समाज में शांति बनाये रखने के लिए भी इसको लागु किया जाता है | जहाँ सुरक्षा,स्वास्थ्य सम्बन्धी और समाज में कोई अशांति फैलने या दंगे  की आशंका होती है उस समय  इस धारा को किसी एक निश्चित छेत्र में उस छेत्र के जिलाधिकारी द्वारा लागु किया जाता है |

इस समय (मार्च 2020) जब देश और पूरी दुनिया में कोरोना वायरस की गंभीरता बनी हुई है ऐसे में इस संकट से पुरे देश को बचाने के लिए हमारे देश के प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने 22 मार्च 2020 रविवार के दिन सुबह 7 बजे से रात्रि 9 बजे तक पुरे देश में धारा 144 को लागु करने का आदेश दिया जिससे की कोरोना वायरस की जो जन्म साइकिल है या चैन है वो टूट सके | जिस दौरान कोई भी व्यक्ति बिना मुख्य कारण अपने घर से बाहर नही निकल सकता और न ही ज्यादा तादाद में लोगो को इकठ्ठा होने की अनुमति है |

धारा 144 के नियम

  • धारा 144 का उल्लंघन करने पर पुलिस आपको गिरफ्तार कर सकती है |
  • जिस छेत्र में यह धारा लागु है वह यातायात वाहनों को रोका जा सकता है |
  • धारा लागु के समय सभी अधिकार जिलाधिकारी या मजिस्ट्रेट के पास होते है |
  • इसको दंगा फसाद, अशांति, लूटपाट, हिंसा और स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओ को रोकने के लिए लागु किया जाता है |
  • आपको इसका उल्लंघन पर 3 साल तक की जेल भी हो सकती है |

धारा 144 कब तक लग सकती है

CRPC की धारा 144 को 2 महीने से ज्यादा समय तक नही लागू किया जा सकता है | लेकिन यदि राज्य सरकार को लगता है के जिस कारण से धारा को लागू किया गया है उसकी स्तितिथि में अधिकतम सुधार हो चूका है उस समय इसको हटाया जा सकता है या अगर स्तितिथि ज्यादा गंभीर बनी रहती है तो उसे और अधिक समय तक के लिए बढाया भी जा सकता है |

धारा 144 और कर्फ्यू

बहुत सारे लोगो का सोचना है की धारा 144 ही कर्फ्यू है और यदि आप भी ऐसा ही सोच रहे है तो यहाँ हम आपको बताना चाहेंगे के आप गलत सोच रहे है | धारा 144 में 5 या उससे अधिक लोगो के घर से बाहर निकलने पर पाबंधी होती है और आप किसी भी एरिया में इकट्ठा नही हो सकते लेकिन केवल आपातकालीन स्तिथि में ही एक अकेला व्यक्ति घर किसी बहुत ही आवश्यक जरूरत के लिए जा सकता है | और इस धारा के दौरान केवल जरुरी सेवायें ही चालू रहने की अनुमति होती है | जैसे दूध, सब्जी, राशन , स्वास्थ्य संसथान | बाकी सभी शिक्षण संसथान स्कूल, कॉलेज, इंस्टिट्यूट, अध्योगिक और सेवा छेत्र सभी बंद हो जाते है |

हम उम्मीद करते है हमारे द्वारा दी गयी जानकारी से आपके सवालो का जवाब आपको मिल गया होगा इसके अलावा यदि आप कोई सवाल या आर्टिकल सम्बन्धी सवाल आपके मन में हो तो आप कमेंट करके पूछ सकते है निचे |

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *